Political

10 हजार रुपए की रिश्वत लेते पटवारी गिरफ्तार, लोकायुक्त ने सहयोगी को भी बनाया सह आरोपी

जबलपुर। लोकायुक्त पुलिस ने बुधवार की दोपहर सिहोरा तहसील के मझगांव पटवारी कार्यालय में पदस्थ हल्का पटवारी को 10 हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार किया है। लोकायुक्त ने आरोपी पटवारी के साथ उसके सहयोगी को भी पकड़ा है। आरोपी पटवारी का नाम देवीदीन पटेल है जिसने कि प्राइवेट कर्मचारी के साथ बैठकर शिकायकर्ता जितेंद्र सिंह पटेल से रिश्वत की पहली किश्त 10 हजार रुपए की ले रहा था तभी कार्यालय में दोनों को रंगे हाथों गिरफ्तार किया। पटवारी देवीदीन ने फौती नामांतरण के लिए रिश्वत मांगी थी।

जबलपुर लोकायुक्त निरीक्षक कमल सिंह उईके ने बताया कि जितेंद्र सिंह पटेल की बहन सीमा पटेल की शादी जुनवानी गांव में रहने वाले अरविंद पटेल से हुई थी। खेत में काम करने के दौरान 24 अप्रैल को अरविंद पटेल को करंट लग गया जिसके चलते मौके पर ही उनकी मौत हो गई। अरविंद पटेल की जुनवानी गांव में 1.23 हेक्टेयर कृषि भूमि है जिसका की फौती नामांतरण करने के लिए सीमा पटेल ने 31 जुलाई को मझगवां पटवारी कार्यालय में आवेदन दिया था। आवेदन देने के बाद से ही लगातार पटवारी देवीदीन पटेल रिश्वत की मांग कर रहा था। देवीदीन ने सीमा पटेल और जितेंद्र पटेल से फौती नामांतरण करने के लिए 20000 रुपए रिश्वत की मांग की।

पटवारी देवीदीन पटेल से परेशान होकर जितेंद्र पटेल और सीमा पटेल ने जबलपुर लोकायुक्त पुलिस से इसकी शिकायत की। सिहोरा तहसील के मझगवां पटवारी कार्यालय में बुधवार की दोपहर को जैसे ही जितेंद्र पटेल रिश्वत की पहली किस्त 10000 रुपए लेकर पटवारी देवीदीन पटेल के पास पहुंचे तो उस दौरान उसका सहयोगी शारदा पटेल भी कमरे में मौजूद था। जैसे ही जितेंद्र ने रिश्वत के रुपए देवीदीन पटेल के कहने पर शारदा पटेल को दिए तो तुरंत ही जबलपुर लोकायुक्त पुलिस ने देवीदीन पटेल और शारदा पटेल जो कि प्राइवेट व्यक्ति है उन्हें गिरफ्तार कर लिया। जबलपुर लोकायुक्त कार्यवाही में टीआई कमल सिंह उईके, टीआई नरेश बेहरा, सब इंस्पेक्टर शिशिर पांडे एवं चार सदस्य लोकायुक्त टीम रही।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button