Political

MP: केंद्रीय मंत्री प्रहलाद पटेल ने प्रदेश में सौ से अधिक सभाएं और रोड शो किए, प्रभावशाली स्टार प्रचारक साबित हुए..

भोपाल। केंद्रीय राज्यमंत्री प्रहलाद सिंह पटेल संभवतया ऐसे प्रत्याशी रहे, जिन्होंने केवल अपने क्षेत्र ही नहीं, बल्कि पूरे प्रदेश में चुनावी सभाएं की हैं और रोड शो किए। उनकी सभाओं में दो बातें खास देखने को मिली। एक तो उनके भाषण देने की कला शानदार है। दूसरे, उन्होंने न केवल मध्य प्रदेश सरकार की योजनाओं को जनता के सामने जोरदार तरीके से पेश किया, अपितु मोदी सरकार की गरीब कल्याण योजनाओं को बड़े प्रभावशाली ढंग से रखा। वे राज्य के प्रमुख स्टार प्रचारकों में शामिल रहे। 

महाकौशल से आने वाले प्रहलाद पटेल ने बुंदेलखंड में भी अपने प्रभाव का काफी विस्तार किया है। उन्हें बुंदेलखंड के दमोह लोकसभा क्षेत्र से टिकट दिया गया, और वे दो बार वहां से जीत हासिल कर चुके हैं। इस विधानसभा चुनाव में श्री पटेल ने नरसिंहपुर से स्वयं विधानसभा चुनाव लड़ा और साथ ही प्रदेश भर में चुनावी सभाएं की। उन्होंने बीजेपी महासचिव कैलाश विजयवर्गीय के क्षेत्र इंदौर क्रमांक एक के साथ ही मुंगावली, जबलपुर, बरघाट, लांजी बंडा, गोटेगांव जमानिया. मेढकी और साकेत (सांची), बरगी, पाटन, छिंदवाड़ा, परासिया, पांढुर्णा, देवरी, गौरझामर, सौंसर, वारासिवनी, मंडला, लखनादौन, तेंदूखेड़ा, नरयावली, चाचौड़ा, कोलारस, शिवपुरी, करेरा, बैहर, केवलारी, विजयराघव गढ़, चंदेरी, दतिया, गंजबासोदा, सिवनी, दमोह, करवाई, सिलवानी, राजगढ़, ब्यावरा, उदयपुरा,  अमरवाड़ा में कोई साठ से अधिक चुनावी सभाओं को संबोधित किया। उन्होंने नरसिंहपुर क्षेत्र में बड़े रोड शो किए बड़ी संख्या में सभाएं की।

पटेल ने महाकौशल और बुंदेलखंड के साथ ही चंबल ग्वालियर की उन सीटों पर खास तौर से प्रचार किया, जो उलझी हुई मानी जा रही थीं। इसके साथ ही ओबीसी बहुल इलाकों में बीजेपी को डबल इंजन सरकार की योजनाएं प्रभावी तरीके से रखीं। उन्होंने महा कौशल में पार्टी के वोट बैंक में बढ़ोत्तरी करने में कामयाबी हासिल की। 

केंद्रीय मंत्री पटेल असल में चुनाव के बहुत पहले सक्रिय हो गए थे। उन्होंने अपने लोकसभा क्षेत्र दमोह में लगातार विकास कार्य लिए, उसके साथ ही बुंदेलखंड के अन्य जिलों में भी दौरे किए। प्रदेश के लगभग सभी जिलों में केंद्र सरकार के जल जीवन मिशन को लेकर उन्होंने प्रचार किया। प्रेस कांफ्रेंस के माध्यम से जनता को बताया कि सरकार हर घर तक शुद्ध पानी पहुंचाने के लिए कृत संकल्पित है। दो मुद्दे उनके भाषणों में प्रमुख रहते हैं, एक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की गरीब कल्याण योजनाएं, दूसरा प्रदेश सरकार की योजनाएं। उन्होंने पीएम मोदी के मोटे अनाज के कॉन्सेप्ट को भी बहुत जोरदार तरीके से रखा है। मध्य प्रदेश में मोटे अनाज को लेकर किसान उत्साहित भी हैं। चुनावों में एक बड़ा मुद्दा किसान निधि और मोटा अनाज भी रहा, जिससे बीजेपी को भरपूर समर्थन मिला। 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button