Political

MP Politics: कौन बनेगा मुख्यमंत्री, सोमवार को विधायक दल की बैठक में चुना जायेगा नेता, शिवराज से मिले प्रहलाद पटेल

भोपाल। मध्य प्रदेश में भाजपा विधायक दल की बैठक सोमवार 11 दिसंबर को बुलाई गई। यहां पर दिल्ली से आने वाले पर्यवेक्षकों की मौजूदगी में बैठक होगी। जिसमें मुख्यमंत्री के नाम पर सस्पेंस खत्म हो जाएगा। इससे पहले भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष कैलाश विजयवर्गी ने भी रविवार तक मुख्यमंत्री के नाम से सस्पेंस खत्म होने के संकेत दिए थे। 

इस बीच प्रहलाद पटेल ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से मुलाकात की है. इस मुलाकात ने प्रदेश का सियासी पारा चढ़ा दिया है. ये मीटिंग ऐसे समय में हुई है जब मध्य प्रदेश में सीएम फेस को लेकर मंथन चल रहा है और शिवराज सिंह चौहान और प्रह्लाद सिंह पटेल दोनों का ही नाम सीएम फेस की लिस्ट में माना जा रहा है। मुलाकात के बाद प्रहलाद पटेल ने मीडिया से चर्चा करते हुए कहा कि विधायक दल की बैठक में फैसला होना है। हम किसी भी सदन में रहें हमारा लक्ष्य जन कल्याण का ही होता है। पार्टी ने जो भी जिम्मेदारी सौंपी है हम उसे निभाते आए हैं, आगे भी निभायेंगे। 

मध्य प्रदेश में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर और प्रहलाद पटेल, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा के साथ ही कैलाश विजयवर्गीय को भी मुख्यमंत्री पद का प्रमुख दावेदार माना जा रहा है। 

शिवराज बोले- जो पार्टी कहेगी वह करने को तैयार

मध्य प्रदेश में मुख्यमंत्री बनने की दौड़ में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की दावेदारी सबसे मजबूत मानी जा रही है। हालांकि, वह कुछ समय पहले यह बयान दे चुके हैं कि वह न तो कभी मुख्यमंत्री पद के दावेदार थे और न ही आज हैं। पार्टी का जो भी आदेश होगा, वह उन्हें स्वीकार है। इसके बाद उन्होंने यह भी कहा कि वह दिल्ली नहीं बल्कि छिंदवाड़ा जाएंगे। 2019 के लोकसभा चुनावों में भाजपा ने छिंदवाड़ा छोड़कर सभी 28 सीटों पर जीत हासिल की थी। शिवराज का कहना है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को मजबूत करने के लिए वे छिंदवाड़ा जाएंगे। 

शिवराज के अलावा पार्टी का कद्दावर ओबीसी चेहरा और केंद्रीय मंत्री प्रहलाद पटेल भी रेस में हैं। केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर के लंबे प्रशासनिक अनुभव को देखते हुए उन्हें जिम्मेदारी सौंपी जा सकती है। केंद्रीय संगठन में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे विजयवर्गीय को भी पार्टी ने विधानसभा चुनाव लड़ाया है। राजनीतिक हलकों में ज्योतिरादित्य सिंधिया और कुछ अन्य नामों को भी मुख्यमंत्री की दौड़ में उम्मीदवार माना जा रहा है। 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button