Madhya PradeshPolitical

MP: अंतरिम बजट में टैक्स का कोई नया प्रस्ताव नहीं:वित्त मंत्री बोले – मोदी की गारंटी पर हो रहा काम

भोपाल। प्रदेश विधानसभा में सोमवार को डिप्टी सीएम और वित्त मंत्री जगदीश देवड़ा ने साल 2024-25 आय-व्यय का लेखानुदान यानी अंतरिम बजट पेश किया।यह बजट एक लाख 45 हजार करोड़ रुपए का है। जिसमें विभागों को अप्रैल से जुलाई 2024 तक विभिन्न योजनाओं में खर्च के लिए राशि आवंटित की गई है।

लेखानुदान में टैक्स के नए प्रस्ताव नहीं है। ना ही खर्च की कोई नई मद शामिल है। वित्त मंत्री जगदीश देवड़ा ने कहा, ‘प्रदेश सरकार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की गारंटी पर काम कर रही है। लेखानुदान की प्राप्त राशि जुलाई में पेश होने वाले पूर्ण बजट में शामिल की जाएगी।’अंतरिम बजट पर 13 फरवरी को चर्चा होगी। इसके लिए 4 घंटे का समय निर्धारित किया गया है।

लेखानुदान में किसके लिए कितनी राशि ?

• किसानों के लिए 9588 करोड़ रुपए

• महिला एवं बाल विकास विभाग के लिए 9360 करोड़ रुपए

• हेल्थ डिपार्टमेंट के लिए 5417 करोड़ रुपए

• नगरीय विकास विभाग के लिए 4654 करोड़ रुपए

• आदिवासी कल्याण के लिए 4287 करोड़ रुपए

• धार्मिक न्यास के लिए 39 करोड़ रुपए

• सामाजिक न्यास के लिए 1820 करोड़ रुपए

• ग्रामीण विकास विभाग के लिए 5100 करोड़ रुपए

• अनुसूचित जाति विभाग के लिए 787 करोड़ रुपए

• ओबीसी और अल्प संख्यक कल्याण के लिए 514 करोड़ रुपए

• लोक निर्माण विभाग के लिए 3132 करोड़ रुपए

• स्कूल शिक्षा विभाग के लिए 11674 करोड़ रुपए

• श्रम विभाग के लिए 391 करोड़ रुपए

देवड़ा बोले- बजट में कोई नई योजना नहीं

डिप्टी सीएम जगदीश देवड़ा ने कहा, चार महीने के खर्चे के लिए अंतरिम बजट लाया जा रहा है। इसमें सभी वर्गों को ध्यान में रखा है। इस बजट में कोई नई योजना नहीं है।

कांग्रेस नेताओं को इनकम टैक्स विभाग के नोटिस की रही चर्चा

कांग्रेस नेताओं को मिले इनकम टैक्स के नोटिस की चर्चा भी विधानसभा परिसर में रही। नेता प्रतिपक्ष उमंग सिंघार ने कहा- भाजपा सरकार कांग्रेस नेताओं को ब्लैकमेल कर रही है। कांग्रेस विधायक विक्रांत भूरिया बोले, ‘हम गांधी के लोग हैं, गोडसे के नहीं.. जो माफीनामा लिख दें। हम पेश होंगे और जवाब देंगे।’

‘भारत रत्न’ पर उमंग सिंघार के बयान पर हंगामा

मुख्यमंत्री ने कहा- पांच भारत रत्न दिए गए। जिसमें बिहार के सर्वहारा वर्ग के बड़े नेता कर्पूरी ठाकुर, लालकृष्ण आडवाणी, चौधरी चरण सिंह, डॉक्टर स्वामीनाथन, और नरसिम्हा राव शामिल है। जिनके लिए कांग्रेस पार्टी ने कोई ध्यान नहीं दिया। उनको भी भारत सरकार भारत रत्न देने जा रही है।

मुख्यमंत्री के संबोधन के बीच में नेता प्रतिपक्ष उमंग सिंघार ने कहा कि भारत रत्न एक बहुत बड़ा गौरवशाली सम्मान होता है और जो भारत के संविधान में उल्लेखित है लेकिन आपने एक साल में 5-6 बांट दिए। यह भारत रत्न नहीं मोदी रत्न है।

उमंग के बयान पर सत्ता पक्ष के विधायकों ने हंगामा शुरू कर दिया। जिस पर अध्यक्ष ने व्यवस्था देते हुए कहा भारत रत्न भारतवर्ष का सर्वोच्च सम्मान है इस पर कोई टिप्पणी नहीं की जा सकती, जो शब्द आए हैं उनको विलोपित किया जाता है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button