काशी विश्वनाथ धाम में सुरक्षित दर्शन का पुख्ता इंतजाम

वाराणसी । वाराणसी स्थित  काशी विश्वनाथ मंदिर धाम में दूर -दूर से आने वाले दर्शनर्थियो को समुचित एवं सुरक्षित दर्शन कराये जाने के उद्देश्य से स्थानीय जिला प्रशासन कई आवश्यक कदम उठा रहा है। ज्ञातव्य है कि   इस बार श्रावण मास 22 जुलाई से  19 अगस्त, 2024 तक होगा, जिसमें पांच सोमवार पड़ रहे हैं,जिसमें  दर्शनार्थियों की बड़ी संख्या में आने की उम्मीद है। मंदिर प्रशासन द्वारा दर्शनार्थियों की सुविधा हेतु कई जगहों पर लाइव दर्शन, खोया पाया केंद्र, जिसमें बहुभाषी कर्मियों की भी व्यवस्था होगी तथा मौदगिन से गोदौलिया के बीच पूरे सावन माह नो व्हीकल जोन बनाया जायगा। वृद्ध, अशक्त, दिव्यांग तथा अति विशिष्ट लोगों के लिए मुफ्त ई-रिक्शा का संचालन किया जायेगा। संपूर्ण धाम क्षेत्र को सीसीटीवी कैमरे से लैस करते हुए कंट्रोल रूम को स्थापित किया गया है ताकि श्रद्धालुओं को कोई असुविधा न हो तथा सभी व्यवस्थाओं पर बारीकी से नजर रखी जा सके। 

  सड़क पर भीड़ को कम करते हुए अंदर बैरिकेड्स को जिग-जैग करने तथा शेड लगाने की   भी व्यवस्था  किया गया है। घाट पर लगी फ्लड लाइट को और बढ़ाने हेतु निर्देशित किया, ताकि कोई भी क्षेत्र अंधेरे में नहीं रहने पाये। जिला प्रशासन  ने पब्लिक एड्रेस सिस्टम तथा गलियों मंब भी सुरक्षा के पर्याप्त इंतजाम, नगर निगम को सीवरेज चेकिंग तथा सफाई के उचित प्रबंध करने का 

 प्रयास  किया जा रहा है।

 स्वास्थ्य विभाग को भी पूरे परिक्षेत्र में डॉक्टरों की पर्याप्त व्यवस्था सुनिश्चत करने हेतु निर्देशित किया गया ताकि दर्शनार्थियों को जरूरत पड़ने पर ससमय उचित चिकित्सा मुहैया की जा सके। मंदिर प्रशासन को ड्यूटी में लगे सभी स्टाफ के खाने-पीने तथा जलपान के उचित प्रबंध करने हेतु भी कहा गया। मंडलायुक्त द्वारा दर्शनार्थियों हेतु शौचालय, पीने के पानी की समुचित व्यवस्था सुनिश्चित करने हेतु निर्देशित किया गया। उन्होंने घाटों पर लगे सभी जेटी को ठीक करने हेतु भी निर्देशित किया। दैनिक दर्शनार्थियों में कुछ दर्शनार्थियों द्वारा अक्सर शिकायत की जा रही है की कतिपय स्थानीय नेमी द्वारा दर्शन के दौरान धक्का-मुक्की / अव्यवस्था की जाती है जिससे नेमी दर्शनार्थियों को परेशानी का सामना करना पड़ता है इसको ध्यान में रखते हुए धाम में अनुशासन बनाये जाने हेतु सभी से लाइन में लगकर अनुशासित होकर दर्शन करने की अपेक्षा की गयी अन्यथा ऐसे लोगों को चिन्हित करते हुए नोटिस जारी किया जाएगा तथा पुनः अव्यवस्था फैलाने पर उनको आम दर्शनार्थियों के मार्फत दर्शन करना पड़ेगा। 

काशीवासीयों हेतु एक नवीन मार्ग काशी द्वार नंदुफारिया मार्ग से प्रातः एवं सायं 4 से 5 बजे तक खोलने के प्रस्ताव पर चर्चा हुई जिसको शुरूआत में नेमी दर्शनार्थियों हेतु खोला जायेगा तत्पश्चात व्यवस्था सुदृढ़ होने के बाद आम काशीवासीयों हेतु खोला जायेगा।

Related Articles