दिल्ली, यूपी सहित कई राज्यों में बरस रहा मानसून, बिहार में जारी हुआ रेड अलर्ट; जानें मौसम का हाल

पूरे देश में मानसून का असर देखने को मिल रहा है। बारिश होने से लोगों को गर्मी से भी राहत मिली है। हालांकि अभी भी कुछ राज्यों में बहुत ज्यादा बारिश के कारण बाढ़ जैसे हालात बने हुए हैं।

मौसम विभाग ने आने वाले चार-पांच दिनों के लिए देशभर में बारिश का अलर्ट जारी किया है। ऐसे में आने वाली 15 जुलाई तक देशभर के करीब सभी हिस्सों में बारिश होने का अनुमान है। वहीं, पहाड़ों पर आफत बनकर बरस रही बारिश की वजह से लैंडस्लाइड का खतरा भी बढ़ गया है।

दिल्ली में आज हो सकती है बारिश

दिल्ली में दो दिनों से कुछ इलाकों में बारिश हो रही है। जिसकी वजह से लोगों को गर्मी से थोड़ी राहत मिली है। हालांकि कुछ देर की बारिश से उमस भी बढ़ गई है।

मौसम विभाग के अनुसार, आज यानी 11 जुलाई को आसमान में बादल छाए रहेंगे जो कुछ जगहों पर बरस भी सकते हैं। IMD के पूर्वानुमान के अनुसार आज दिल्ली के कुछ इलाकों में रिमझिम बारिश देखने को मिल सकती है।

वहीं, आज राजधानी का अधिकतम तापमान 36 डिग्री और न्यूनतम तापमान 28 डिग्री रहने की उम्मीद है। बता दें कि मौसम विभाग ने अगले पांच दिनों तक दिल्ली में भी बारिश का अनुमान जताया है।

हिमाचल में मानसून पड़ा कमजोर

हिमाचल में मानसून कमजोर पड़ गया है। राज्य के कई हिस्सों में न्यूनतम तापमान में एक डिग्री सेल्सियस की गिरावट होने की संभावना है। जिसके तहत कांगड़ा और शिमला के साथ लगते क्षेत्रों में तापमान गिरेगा। जबकि निचले क्षेत्रों में न्यूनतम तापमान यथावत बना रहेगा। प्रदेश के अधिकांश स्थानों पर मानसून की वर्षा हो रही है, जिसके परिणाम स्वरूप न्यूनतम तापमान में गिरावट हो रही है।

मौसम विभाग के निदेशक डॉ. सुरेंद्र पाल ने कहा कि मानसून की तीव्रता कम हुई है। प्रदेश के अधिकांश स्थानों पर 16 जुलाई तक कुछ स्थानों पर हल्की वर्षा की संभावना है। बुधवार को प्रदेश के छह स्थानों पर हल्की और कुछ स्थानों पर अधिक वर्षा हुई है।

बिहार के 5 जिलों में वर्षा का रेड अलर्ट

राजधानी पटना समेत प्रदेश में मानसून का प्रभाव बना हुआ है। इसके कारण प्रदेश के अलग-अलग भागों में वर्षा हो रही है। मौसम विज्ञान केंद्र पटना के अनुसार, गुरुवार को पटना सहित प्रदेश के अधिसंख्य भागों में मेघ गर्जन के साथ छिटपुट वर्षा की संभावना है।

राज्य के पांच जिलों के पूर्वी व पश्चिमी चंपारण, गोपालगंज, किशनगंज, शिवहर में अत्यधिक भारी वर्षा को लेकर रेड अलर्ट जारी किया गया है। सारण, मुजफ्फरपुर, सीतामढ़ी, दरभंगा, पूर्णिया जिले में अति भारी वर्षा को लेकर ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है। प्रदेश के शेष जिलों के अलग-अलग स्थानों पर छिटपुट वर्षा की संभावना है।

उत्तर प्रदेश में वज्रपात का कहर

बाढ़, वर्षा, वज्रपात से उत्तर प्रदेश का जनजीवन अस्त-व्यस्त है। बुधवार को बाढ़ व वर्षा से तो कुछ राहत रही लेकिन वज्रपात व उमस ने पूर्वी व मध्य उप्र में कहर ढाया। यहां वज्रपात से 47 मौतों का समाचार है। इसके अलावा मैनपुरी में भी पांच लोगों की वज्रपात से मौत हो गई। बड़ी संख्या में लोग झुलसे हैं।

प्रदेश में अकेले वज्रपात से कुल 52 लोगों की जान चली गई। वाराणसी, आजमगढ़, मीरजापुर मंडल के जिलों में दोपहर बाद हुई बारिश ने लोगों को उमस और गर्मी से राहत तो दी, लेकिन वज्रपात ने 11 लोगों की जान ले ली। 16 महिलाओं समेत 17 लोग झुलस गए। उन्हें इलाज के लिए विभिन्न चिकित्सालयों में भर्ती कराया गया है।

पिछले तीन दिनों से बादलों की घेराबंदी के बाद भी जमकर बरसात नहीं होने से प्रयागराज और प्रतापगढ़ तथा कौशांबी भीषण उमस की चपेट में हैं। यहां वज्रपात से प्रतापगढ़ में 12 लोगों की मौत हो गई।

Related Articles