भारतीय मूल की लिसा नंदी संभालेंगी संस्कृति, मीडिया और खेल मंत्रालय

ब्रिटेन के आम चुनाव में एकतरफा जीत के बाद कैबिनेट का एलान करते हुए कीर स्टार्मर ने भारतीय मूल की लीजा नंदी, जो उत्तर-पश्चिम इंग्लैंड के विगन संसदीय क्षेत्र से एक बार फिर भारी मतों से चुनाव जीतकर आयी हैं, उनको संस्कृति, मीडिया और खेल मंत्रालय सौंपा है। लेबर पार्टी की शानदार जीत के बाद कीर स्टारमर सीधे काम पर लग गए। बता दें कि उनकी कैबिनेट में राचेल रीव्स चांसलर ऑफ द एक्सचेकर के उच्च पद पर आसीन होने वाली पहली महिला बनीं और एंजेला रेनर ब्रिटेन के इतिहास में दूसरी महिला उप प्रधानमंत्री बनीं। जबकि भारतीय मूल की लीजा नंदी संस्कृति, मीडिया और खेल मंत्री बनाई गई है।वहीं इस पर प्रतिक्रिया देते हुए 44 वर्षीय लीजा नंदी ने सोशल मीडिया पर कहा कि ब्रिटेन के संस्कृति, मीडिया और खेल विभाग (डीसीएमएस) का नेतृत्व करना एक अविश्वसनीय विशेषाधिकार है। उन्होंने कहा, रग्बी लीग से लेकर रॉयल ओपेरा तक, हमारी सांस्कृतिक और खेल विरासत हमारे कस्बों, गांवों और शहरों में फैली हुई है और यह हमारे देश की सबसे बड़ी संपत्तियों में से एक है। जनवरी 2020 में अपने बॉस के खिलाफ लेबर पार्टी के नेतृत्व की प्रतियोगिता में अंतिम तीन प्रतियोगियों में से एक लीजा नंदी अब लूसी फ्रेजर से संस्कृति मंत्रालय का कार्यभार संभालेंगी। लूसी फ्रेजर पूर्व प्रधानमंत्री ऋषि सुनक के नेतृत्व वाले कंजर्वेटिव के लिए चुनाव में अपनी सीट खोने वाले टोरी मंत्रियों में से एक थीं।

विपक्षियों पर जमकर बरसीं लीजा नंदी 

शुक्रवार को ग्रेटर मैनचेस्टर निर्वाचन क्षेत्र में एक दूर-दराज के रिफॉर्म के उम्मीदवार को हराने पर अपने स्वीकृति भाषण में लीजा नंदी ने गुस्से में कहा, मैं उन लोगों से कहना चाहती हूं जो अपनी घिनौनी, घृणित, नस्लवादी राजनीति को हमारे शहर में लेकर आए है, विगन का इतिहास कामकाजी वर्ग के लोगों का है, जिन्होंने 100 सालों तक आपको और आपकी नफरत को हमारे शहर से बार-बार बाहर निकाला है। तो आज  इस परिणाम को अपने मार्चिंग ऑर्डर के रूप में लें। हम आपसे बेहतर शहर हैं। यहां आपका स्वागत नहीं है। कलकत्ता में जन्मे शिक्षाविद दीपक नंदी और अंग्रेजी मां लुइस बायर्स की बेटी लीजा नंदी का जन्म मैनचेस्टर में हुआ था। बता दें कि उन्होंने लेबर पार्टी के सम्मेलनों के दौरान अपनी भारतीय विरासत के बारे में बात की है। उनके पिता दीपक नंदी ब्रिटेन में नस्ल संबंधों के क्षेत्र में अपने काम के लिए प्रसिद्ध थे।

 पिता दीपक का ताल्लुक कोलकाता से 

नंदी का जन्म मैनचेस्टर में लुइस और दीपक नंदी के घर हुआ था। कोलकाता में जन्मे लिसा नंदी के पिता दीपक नंदी भारतीय मूल के एक्टिविस्ट और शिक्षाविद थे। लिसा नंदी ने पारस वुड हाई स्कूल और होली क्रॉस कॉलेज में शिक्षा प्राप्त की। उसके बाद नंदी ने न्यूकैसल विश्वविद्यालय में राजनीति की पढ़ाई की। न्यूकैसल विश्वविद्यालय में अपनी पहली डिग्री लेने के बाद उन्होंने 2003 में लंदन विश्वविद्यालय के बर्कबेक कॉलेज में सार्वजनिक नीति का अध्ययन किया। पढ़ाई के बाद उन्होंने वाल्थमस्टो के सांसद नील गेरार्ड के सहायक के रूप में काम किया। गेरार्ड बेघरों के लिए काम करने वाली चैरिटी सेंटरपॉइंट के लिए शोधकर्ता थे। लिसा की शादी एंडी कोलिस के साथ हुई है जो एक पीआर कंसल्टेंट हैं।

Related Articles