महाकाल मंदिर में  भस्म आरती के नाम पर पुन: ठगी 

शयन आरती दर्शन कराने हरियाणा के श्रद्धालुओं 2600 रुपये वसूल

भोपाल । धार्मिक नगर उज्जैन में आने वाले श्रद्धालुओं को ठगने का काम निरंतर जारी है। इस पर लगाम लगाने में प्रशासन को सफलता नहीं मिल पा रही है। सोमवार को हरियाणा के श्रद्धालुओं के साथ भस्म आरती के नाम पर ठगी का मामला सामने आया। हरियाणा के सोनीपत से अंशुल अपनी बड़ी बहन के साथ महाकाल दर्शन करने आए थे। बड़े गणेश मंदिर के समीप वे भस्म आरती दर्शन के संबंध में पूछताछ कर रहे थे। इस दौरान फूल-प्रसाद विक्रेता राजकुमार से उनकी मुलाकात हुई। राजकुमार ने शयन आरती दर्शन कराने के लिए उनसे 2600 रुपये वसूल लिए तथा भस्म आरती अनुमति कराने के लिए तीन हजार रुपये की मांग की। दर्शनार्थियों ने उसे 5600 रुपये दे दिए। राजकुमार ने उन्हें दर्शन कराने के साथ भस्म आरती की अनुमति भी करवा दी। सोमवार को भस्म आरती दर्शन करने के बाद जब वे मंदिर से बाहर निकले राजकुमार ने उन्हें फोन कर और तीन हजार रुपये देने की मांग की। वह लगातार फोन कर तीन हजार रुपये देने के लिए दबाव बनाने लगा। इस पर श्रद्धालुओं ने महाकाल थाने में इसकी शिकायत की। इस पर थाने से उन्हें पुलिस सहायता दी गई। इसके बाद अंशुल ने रुपए देने के लिए राजकुमार को बुलाया और पुलिस ने उसे रंगे हाथों पकड़ लिया। टीआई अजय वर्मा ने बताया आरोपित से पूछताछ की जा रही है, कार्रवाई के लिए उसे एसडीएम कोर्ट में पेश किया जाएगा। महाकाल मंदिर में श्वानों का आतंक बढ़ता जा रहा है। एक सप्ताह पहले दिल्ली से महाकाल दर्शन करने आईं प्रोफेसर चारूलता के पैर में श्वान ने काट लिया था। रविवार को आंध्र प्रदेश के रंगारेड्डी शहर से महाकाल दर्शन करने मंदिर पहुंचे थे। सोमवार तड़के भस्म आरती दर्शन के बाद वे परिसर स्थित मंदिरों में दर्शन कर रहे थे, इसी दौरा श्वानों का समूह परिसर में आ गया और एक श्वान ने उनके पेट पर काट लिया। लहूलुहान दर्शनार्थी की मदद के लिए अन्य दर्शनार्थी दौड़े और उन्हें अस्पताल पहुंचाया। 

Related Articles