Political

MP: हार पर कांग्रेस का आत्ममंथन, दो प्रदेश महामंत्रियों ने दिया इस्तीफा…

भोपाल। मध्यप्रदेश में विधानसभा चुनाव में मिली करारी शिकस्त के बाद कांग्रेस पदाधिकारी इस्तीफा दे रहे हैं। शनिवार को जबलपुर में कांग्रेस के दो महामंत्रियों ने इस्तीफा दे दिया। इससे पहले शुक्रवार शाम को दिल्ली स्थित कांग्रेस मुख्यालय में एमपी कांग्रेस नेताओं की समीक्षा बैठक हुई।

एमपी कांग्रेस के प्रभारी रणदीप सुरजेवाला ने बैठक के बाद बताया कि कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खडग़े, राहुल गांधी और कांग्रेस महासचिव केसी वेणुगोपाल ने मध्यप्रदेश के नेताओं से चुनाव के नतीजों के बारे में चर्चा की। सभी नेताओं ने अपने-अपने अनुभव साझा किए। हार के कारणों पर खुले मन से चर्चा हुई। कहां कमियां रहीं, इस पर आत्ममंथन, विश्लेषण और चर्चा की गई।

सुरजेवाला ने बताया कि अब पार्टी के संगठन की रचना कैसी हो, कैसे आगे बढ़ा जाए, इसका फैसला पार्टी अध्यक्ष पर छोड़ा है। एमपी के नेताओं ने पार्टी अध्यक्ष से जल्द पर्यवेक्षकों की नियुक्ति के लिए भी कहा है, ताकि विधायक दल की बैठक कर जल्द नेता प्रतिपक्ष तय किया जा सके।

मध्यप्रदेश कांग्रेस के नेताओं की बैठक जैसे ही खत्म हुई तो कमलनाथ कार में बैठकर रवाना हो गए। इसके बाद नेता प्रतिपक्ष डॉ. गोविंद सिंह और कांतिलाल भूरिया भी निकले। उन्होंने मीडिया से बात नहीं की। कुछ देर बाद कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिवों और मध्य प्रदेश के सह प्रभारी के साथ एमपी के प्रदेश प्रभारी रणदीप सिंह सुरजेवाला मीडिया के सामने आए और उन्होंने अपनी बात रखी।

जबलपुर में दो प्रदेश महामंत्रियों का इस्तीफा

जबलपुर में प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री अशोक गुप्ता और पंकज पांडे ने अपने पदों से इस्तीफा दे दिया है। दोनों महामंत्रियों ने पीसीसी चीफ कमलनाथ को इस्तीफा भेजा है। दोनों नेता जबलपुर में कांग्रेस प्रत्याशी के चुनाव प्रभारी थे।

लक्ष्मण सिंह ने भितरघात को बताया हार का कारण

इधर, कांग्रेस की हार पर दिग्विजय के भाई और पूर्व विधायक लक्ष्मण सिंह ने कहा कि सर्वे में कांग्रेस जीत रही थी, लेकिन भितरघात हार की प्रमुख वजह है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button